MP

मंत्रीजी ने अपना इलाका तो बचा लिया, बाकी MLA क्या निपटने की तैयारी करें?

सुर्ख़ियों में पूर्व मंत्री और सीनियर विधायक अजय विश्नोई का बिजली कटौती को लेकर तीखा सवाल।

भोपाल (जोशहोश डेस्क) बिजली कटौती को लेकर शिवराज सरकार किसानों के साथ अपनों के ही गुस्से को दरकिनार करती नजर आ रही है। सरकार मानने को तैयार नहीं कि प्रदेश में बिजली संकट है लेकिन सरकार के कुछ मंत्री और विधायकों की जुबान से सच सामने आ ही जाता है। अब पूर्व मंत्री और सीनियर विधायक अजय विश्नोई ने बिजली कटौती को लेकर एक ऐसा सवाल पूछा है जो सुर्ख़ियों में आ गया है।

पाटन से विधायक अजय विश्नोई ने हाल ही में शिवराज सरकार मंत्रियों के बीच हुई चर्चित बातचीत का बिना नाम लिए हवाला देकर लिखा कि मंत्रीजी ने अपना इलाका तो बचा लिया लेकिन बाकी विधायक विधायक भी क्या सोशल मीडिया की शरण ले अथवा निपटने की तैयारी करें?

बिजली कटौती को लेकर हाल ही में प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल का एक वीडियो जमकर सुर्ख़ियों में आया था। वीडियो में कमल पटेल फ़ोन पर किसी से यह कहते नज़र आ रहे थे कि हरदा और नर्मदापुरम में दोनों जिलों में 4 हजार करोड़ रुपये की मूंग बिजली न मिलने से सूखने की हालत में है, यहां सिंचाई के लिए पर्याप्त बिजली नहीं मिल रही है, यदि किसान निपट गया, तो वह हमको निपटा देगा।

कहा जा रहा था कि कमल पटेल यह बात ऊर्जा मंत्री प्रदुम्न सिंह से कर रहे थे। कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने इस संवाद को कृषि मंत्री और ऊर्जा मंत्री के बीच बताया था-

हालांकि सरकार की किरकिरी होता देख कमल पटेल ने वीडियो पर सफाई देते हुए कहा था कि वे बिजली विभाग के अधिकारी से बात कर रहे थे। ऊर्जा मंत्री से इस बारे में उनकी कोई चर्चा नहीं हुई है।

गौरतलब है कि प्रदेश के अधिकांश इलाकों में अघोषित बिजली कटौती से किसान परेशान हैं। बिजली कटौती से किसान फसलों की सिंचाई तक नहीं कर पा रहे हैं। ग्रामीण अंचलों में तो कटौती का समय तक निर्धारित नहीं है। बिजली कटौती के कारण ग्रामीणों में आक्रोश बढ़ रहा है।

Back to top button