MP

हितानंद बने संगठन महामंत्री, फिर सुर्ख़ियों में अशोकनगर का राशन घोटाला

हितानंद शर्मा के संगठन महामंत्री बनते ही कांग्रेस ने अशोक नगर राशन घोटाले को लेकर सवाल उठाना शुरू कर दिया है।

भोपाल (जोशहोश डेस्क) हितानंद शर्मा प्रदेश भाजपा के नए संगठन महामंत्री होंगे। सियासी गलियारों में यह चर्चा पहले ही थी कि अब तक सह संगठन मंत्री पद संभाल रहे हितानंद को ही संगठन महामंत्री बनाया जाएगा। इधर कांग्रेस ने हितानंद शर्मा के संगठन महामंत्री बनते ही अशोकनगर राशन घोटाले को लेकर सवाल उठाना शुरू कर दिया है।

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने बुधवार को हितानंद शर्मा के संगठन महामंत्री पद पर नियुक्ति का पत्र जारी किया है। हितानंद शर्मा अब सुहास भगत की जगह लेंगे। सुहास भगत को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में वापस बुला लिया गया है। भगत को मध्यक्षेत्र का बौद्धिक प्रभारी बनाया गया है।

हितानंद शर्मा मूलतः अशोकनगर जिले के रहने वाले हैं। हितानंद शर्मा के संगठन मंत्री बनते ही अशोकनगर का राशन घोटाला फिर चर्चाओं में आ गया है। कांग्रेस का आरोप है कि हितानंद शर्मा के बड़े भाई निकुंज शर्मा राशन घोटाले में शामिल थे और उन्हें हितानंद शर्मा के प्रभाव के चलते ही बचाया गया था।

कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने लिखा-जिस दिन प्रदेश के अशोकनगर जिले में राशन की कालाबाजारी और पीओएस मशीन में फर्जी एंट्री के मामले में आरोपी बनाये गये निकुंज शर्मा पर की गई सारी कार्रवाई को रोक दिया गया था,उसी दिन यह लग गया था कि जल्द ही भाजपा में हितानंद शर्मा जी को बड़ा पद मिलने वाला है…

वहीं प्रदेश कांग्रेस महासचिव केके मिश्रा ने लिखा-अशोक नगर में लाखों रु.का घपलाकर्ता राशनमाफिया अपने सगे बड़े भाई,जिसके विरुद्ध FIR भी दर्ज हुई, को खत्म करवाने वाले “हितानंद शर्मा जी” को राशनमाफ़ियाओं की और से बधाई..”अब तुम रक्षक काहू को डरना”, शिवराज जी अब किसे जेल भेजेगें?

गौरतलब है कि अशोकनगर जिले में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत गरीब हितग्राहियों के लिये आवंटित राशन की कालाबाजारी और पीओएस मशीन में फर्जी एंट्री का बड़ा मामला सामने आया था। तब भी कांग्रेस ने राशन की कालाबाजारी और फर्जी एंट्री के आरोपी निकुंज शर्मा को हितानंद शर्मा का बड़ा भाई बताते हुए हितानंद के इस्तीफे की मांग की थी।

यह भी पढ़ें-राशन घोटाले में BJP नेता हितानंद के भाई पर केस दर्ज़, क्या लगेगी रासुका?

प्रदेश भाजपा के नए संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा आरएसएस के सहायक संगठन विद्या भारती में लंबे समय तक रहे हैं। मध्य प्रदेश भाजपा में उनकी एंट्री कमलनाथ सरकार के गिरने के बाद हुई थी जब उन्हें सह संगठन महामंत्री नियुक्त किया गया था। सुहास भगत के साथ उन्होंने संगठन में अहम जिम्मेदारी निभाई थी।

हितानंद शर्मा की नियुक्ति को मध्य प्रदेश में 2023 में विधानसभा चुनाव की दृष्टि के लिहाज से अहम माना जा रहा है। हितानन्द शर्मा पर विधानसभा चुनाव के लिए संगठन और सत्ता में समन्वय बड़ी जिम्मेदारी होगी। हितानंद शर्मा के सामने भाजपा में बन चुके अलग अलग शक्ति केंद्रों के बीच सामंजस्य स्थापित करने की बड़ी चुनौती भी होगी। विधानसभा चुनाव में बड़ी संख्या में सिंधिया गुट के नेताओं को दोबारा भाजपा में स्वीकार्य बनाना भी आसान नहीं होगा। हालांकि प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के साथ तालमेल उनका सकारात्मक पक्ष साबित हो सकता है।

Back to top button