MP

सिवनी लिंचिंग का BJP-RSS कनेक्शन वायरल, प्रियंका गांधी की बात सही साबित

एक आरोपी की भाजपा नेताओं और आरएसएस की ड्रेस में तस्वीरें वायरल, पीड़ित परिवारों से मिले नेता प्रतिपक्ष डॉक्टर गोविंद सिंह।

सिवनी/भोपाल (जोशहोश डेस्क) गौवंशकी तस्करी के संदेह में दो आदिवासियों की हत्या के मामले में अब भाजपा और संघ का कनेक्शन सामने आ रहा है। हत्या के आरोपियों में से एक की भाजपा नेताओं और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की ड्रेस में तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हो रही हैं। कांग्रेस महासाचिव प्रियंका गांधी ने बुधवार को ही लिचिंग के लिए भाजपा-संघ के नफरत के एजेंडे को जिम्मेदार बताया था।

सिवनी जिले के कुरई के एसएचओ ने इस बात की पुष्टि की है कि घटना में शामिल 9 आरोपियों में से 3 बजरंग दल और 6 श्रीराम सेना से जुड़े हुए हैं। वहीं एक आरोपी दीपक अवधिया की स्थानीय भाजपा नेताओं के साथ तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं। कुछ अन्य तस्वीरों में वह राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की ड्रेस में दूसरे कार्यकर्ताओं के साथ भी नज़र आ रहा है।

इससे पहले ही प्रियंका गाँधी ने घटना को लेकर कहा था कि सिवनीमें बजरंग दल (आरएसएस) के लोगों ने दो आदिवासियों की पीट-पीट कर हत्या कर दी।आरएसएस-भाजपा का संविधान व दलित-आदिवासियों से नफरत का एजेंडा आदिवासियों के प्रति हिंसा को बढ़ावा दे रहा है। हमें एकजुट होकर नफरत से भरे इस एजेंडे को रोकना होगा।

दूसरी ओर प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष डॉक्टर गोविंद सिंह गुरुवार को अन्य पार्टी पदाधिकारियों के साथ पीड़ित परिवारों को सांत्वना देने सिवनी पहुंचे। डॉ. गोविंद सिंह के साथ छिंदवाड़ा सांसद नकुल नाथ, पूर्व मंत्री तरुण भनोत, विधायक विनय सक्सेना और हिना कांवरे ने भी पीड़ितों से मुलाकात की।


इसके बाद नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह ने मीडिया से चर्चा में कहा कि भाजपा के विभिन्न संगठन के लोग आदिवासियों का दमन कर रहे हैं। उन्होंने घटना के लिए बजरंग दल और आरएसएस को जिम्मेदार बताया।

वहीं गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने प्रारंभिक जांच रिपोर्ट के आधार पर इसे गौमांस से जुड़ा विषय बताया है। उन्होंने बताया कि 13 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं 8 लाख 25 हजार रुपए की सहायता राशि मृतकों के परिवार को दी गई है। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा द्वारा गौमांस से जुड़ा विषय बताने पर भी कांग्रेस ने सवाल खड़े किये हैं। कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने कहा कि- पता नही उनके पास ऐसी कौन सी लेबोरेटरी है, जिसमें इतनी जल्दी जाँच भी हो गयी और रिपोर्ट भी आ गयी..?

गौरतलब है कि सिवनी जिले के सिमरिया गांव में मंगलवार तड़के बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने दो आदिवासी युवकों की पीट-पीट कर हत्या कर दी थी और पिटाई से एक अन्य युवक की हालत गंभीर बनी हुई है। गौवंश की तस्करी के संदेह पर बड़ी संख्या में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने बबर्रतापूर्वक आदिवासी युवकों की पिटाई शुरू कर दी। जब तक पुलिस घटनास्थल पर पहुँचती बजरंगियों ने आदिवासियों को बेदम कर दिया था। पुलिस ने गंभीर अवस्था में तीनों आदिवासियों को अस्पताल पहुंचाया जहाँ दो युवकों ने दम तोड़ दिया था। घटना को लेकर जबर्दस्त आक्रोश है।

Back to top button