National

देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था का नुकसान, NDTV से रवीश का भी इस्तीफा!

एनडीटीवी के मैग्सेसे अवार्ड विजेता एंकर रवीश कुमार के भी इस्तीफे की खबर

नई दिल्ली (जोशहोश डेस्क) अडानी समूह के आधिपत्य के बाद एनडीटीवी के मैग्सेसे अवार्ड विजेता एंकर रवीश कुमार के भी इस्तीफे की खबर है। रवीश से पहले चैनल के फाउंडर प्रणव राय और राधिका राय ने भी बोर्ड ऑफ RRPR होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर पद से इस्तीफा दे दिया था। RRPR होल्डिंग एनडीटीवी की प्रमोटर ग्रुप कंपनी है।

RRPR होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड के पास एनडीटीवी की 29.18 फीसदी हिस्सेदारी थी, लेकिन अब इस हिस्सेदारी को अडानी समूह ने खरीद लिया है। बताया जा रहा है कि 29 नवंबर को हुई RRPRH की बैठक में प्रणव रॉय और राधिका रॉय के इस्तीफे को स्वीकार कर लिया है।

सोशल मीडिया पर NDTV के घटनाक्रम और रवीश कुमार के इस्तीफे को लेकर कई प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। इसे पत्रकारिता का काला का दिन बताया जा रहा है। पत्रकार श्याम मीरा सिंह ने रवीश के इस्तीफे पर लिखा कि- ये NDTV या रवीश का नुक़सान नहीं है। देश का नुक़सान है। उसकी लोकतांत्रिक व्यवस्था का नुक़सान है।

रवीश के इस्तीफे से पहले NDTV ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को प्रणय रॉय और राधिका रॉय के इस्तीफे की जानकारी दी थी। इसमें बताया गया कि प्रणय और राधिका ने कंपनी के डायरेक्टर पद से इस्तीफा दे दिया है। प्रणय और राधिका के इस्तीफे के बाद संजय पुगलिया, सुदीप्ता भट्टाचार्य, सेंथिल सिनेया चेंगलवार्यन को तत्काल प्रभाव से आरआरपीआर होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड के बोर्ड में डायरेक्टर नियुक्त किया गया है।

Back to top button